जेवर एयरपोर्ट को सरकार ने दिए 800 करोड़

Posted on Feb 08 2019

ग्रेटर नोएडा: जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए प्रदेश सरकार ने एक बार फिर अपना खजाना खोला है। एयरपोर्ट को बजट में आठ सौ करोड़ रुपये का आवंटन हुआ है। यह धनराशि एयरपोर्ट से प्रभावित गांवों के ग्रामीणों के पुनर्वास एवं व्यवस्थापन पर खर्च होगी। ग्रामीणों के पुनर्वास पर करीब डेढ़ हजार करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। वहीं प्रशासन के खाते में पुनर्वास राशि आ जाने से एयरपोर्ट के निर्माण कार्य में तेजी आएगी। प्रशासन जिनती जल्दी किसानों को जमीन का मुआवजा देकर उनका पुनर्वास करेगा, उतनी ही जल्दी जमीन पर कब्जा मिल जाएगा।

जमीन पर कब्जा मिलते ही प्राधिकरण निर्माण कार्य शुरू करा देगा। प्रदेश सरकार ने भी इस दिशा में बड़ा कदम उठाया है। प्रदेश सरकार के वित्त वर्ष 2019-20 के बजट में जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट को धनराशि आवंटन की पूरी उम्मीद थी। प्रदेश सरकार ने इस उम्मीद को पूरा भी किया। एयरपोर्ट के लिए बजट में आठ सौ करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। यह धनराशि परियोजना से प्रभावित ग्रामीणों के पुनर्वास पर खर्च होगी। इस धनराशि से विस्थापित परिवारों को बसाने के लिए जमीन खरीदने, ढांचागत सुविधाएं विकसित करने के लिए संपत्ति का मुआवजा वितरण किया जाएगा। जमीन अधिग्रहण का मुआवजा वितरण पर 2850 करोड़ रुपये खर्च होंगे। यह धनराशि प्रदेश सरकार एवं नोएडा, ग्रेटर नोएडा व यमुना प्राधिकरण ने जुटाकर जिला प्रशासन को उपलब्ध करा दी है।

एयरपोर्ट के लिए 1334 हेक्टेयर जमीन की अधिग्रहण प्रक्रिया अंतिम चरण में है। इसमें 94 हेक्टेयर जमीन सरकारी है। इसका पुनग्र्रहण किया जाएगा। भूमि अधिग्रहण कानून की धारा 19 के तहत प्रभावित गांवों के ग्रामीणों की आपत्ति दर्ज की जा रही है। यह कार्य 18 फरवरी तक पूरा हो जाएगा। 19 फरवरी से आपत्ति के निस्तारण की प्रक्रिया शुरू होगी। इसके बाद अवार्ड घोषित कर मुआवजा वितरण का काम शुरू हो जाएगा। परियोजना से प्रभावित परिवारों के पुनर्वास एवं व्यवस्था की योजना तैयार की जा चुकी है। प्रदेश सरकार द्वारा पुनर्वास धनराशि की व्यवस्था किए जाने से प्राधिकरण और प्रशासनिक अधिकारी गदगद नजर आ रहे हैं। उनका कहना है कि इससे कार्यों में तेजी आएगी। एयरपोर्ट का निर्माण कार्य जल्द शुरू होने से क्षेत्र के विकास की भी तस्वीर बदलेगी।

Courtesy:-  https://epaper.jagran.com/epaper/article-08-Feb-2019-edition-noida-page_25-4660-2282-241.html

Copyright © 2019 Jewar Airport Projects

Jewar Airport Projects

Contact Us