blog_img
 

टाउनशिप में बसेंगे जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से प्रभावित परिवार

Posted on Sep 09 2019

ग्रेटर नोएडा : जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से विस्थापित परिवारों को जेवर बांगर के नजदीक बसाया जाएगा। इसके लिए वहां टाउनशिप विकसित होगी, जिसमें सभी ढांचागत सुविधाएं होंगी। एयरपोर्ट के पहले चरण में 3625 परिवारों को उनके मूल स्थान से हटाकर टाउनशिप में बसाया जाएगा।

जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए जमीन अधिग्रहण का कार्य चल रहा है। पहले चरण के लिए 1239 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण होना है। इसके सापेक्ष 3167 करोड़ मुआवजा वितरित होना है। जिला प्रशासन अधिग्रहण प्रभावित रन्हेरा, किशोरपुर, बनबारीवास, रोही, पारोही, दयानतपुर के किसानों को 845 हेक्टेयर जमीन का 2094 करोड़ रुपये मुआवजा बांट चुका है। 493 हेक्टेयर जमीन का 1,073 करोड़ रुपये का मुआवजा वितरण और कब्जा लेने की कार्रवाई की जा रही है। जेवर एयरपोर्ट के लिए 3625 परिवारों को विस्थापित किया जाएगा। इन्हें जेवर टप्पल मार्ग व यमुना एक्सप्रेस वे के बीच जेवर बांगर गांव की 48 हेक्टेयर जमीन पर बसाया जाएगा। इसके लिए पुनर्वास एवं पुनव्र्यवस्थापन की योजना तैयार हो चुकी है। इस पर करीब 236 करोड़ खर्च होंगे। परियोजना से कुल 8,991 परिवारों में से कुल 6,366 परिवारों के विस्थापन प्रस्ताव को कमिश्नर की मंजूरी मिल चुकी है। 4,991 परिवारों के प्रस्ताव को कमिश्नर पहले की मंजूरी दे चुके हैं। शुक्रवार को 1,375 परिवारों के विस्थापन प्रस्ताव को और मंजूरी मिल गई। एयरपोर्ट से रोही गांव पूरी तरह से विस्थापित होगा। जबकि दयानतपुर के तीन माजरों नंगला छीतर, नंगला शरीफ खां और खेड़ा को विस्थापित किया जाएगा। किशोरपुर के 55 परिवार हैं। जिस जगह पर ग्रामीणों का पुर्नवास होगा। वहां टाउनशिप बनाई जाएगी।

Courtesy:- https://epaper.jagran.com/epaper/09-sep-2019-241-noida-edition-noida-page-17.html#

Copyright © 2019 Jewar Airport Projects

Jewar Airport Projects

Contact Us