blog_img
 

जेवर एयरपोर्ट की बिड पर क्वेरी देने का आज अंतिम दिन

Posted on Jul 22 2019

ग्रेटर नोएडा : जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की बिड पर मिली क्वेरी पर फैसला प्रदेश की परियोजना निगरानी एवं क्रियान्वयन समिति लेगी। क्वेरी देने के लिए सोमवार को अंतिम दिन है। कंपनियों ने मिली क्वेरी पर रिपोर्ट तैयार कर उसे पीएमआइसी में रखा जाएगा। समिति के बाद प्रदेश सरकार से अनुमोदन लिया जाएगा।
जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए 16 बिड डॉक्यूमेंट की बिक्री हो चुकी है। बिड में रुचि दिखाने वाली कंपनियों की क्वेरी के लिए 15 जुलाई को प्री बिड कांफ्रेंस आयोजित की गई थी। बिड खरीदने वाली कंपनियों के अलावा कई अन्य ने भी मौखिक क्वेरी नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट कंपनी लिमिटेड को दर्ज कराई थी। कंपनियों की मांग पर नियाल ने क्वेरी देने की समय सीमा को बढ़ाकर 22 जुलाई कर दिया था।

सोमवार को क्वेरी देने की समय सीमा समाप्त हो रही है। नियाल ने तकनीकी सलाहकार कंपनी पीडब्ल्यूसी को निर्देश दिए हैं कि वह कंपनियों की ओर से मिली क्वेरी का अध्ययन कर रिपोर्ट तैयार करे। कंपनियों ने धरोहर राशि को सौ करोड़ रुपये से कम करने के अलावा तकनीकी मापदंड को भी लचीला करने का आग्रह किया है। कंपनियों की क्वेरी को देखते हुए अगर बिड में किसी तरह के संशोधन की संभावना बनेगी तो इसे प्रदेश की परियोजना निगरानी एवं क्रियान्वयन समिति के सामने रखा जाएगा। समिति से मुहर लगने के बाद प्रदेश कैबिनेट की मंजूरी ली जाएगी। प्रदेश कैबिनेट इसके लिए मुख्यमंत्री को अधिकृत कर चुकी है। नियाल क्वेरी का जवाब 31 अगस्त को अपनी वेबसाइट पर अपलोड करेगी।

क्वेरी का जवाब मिलने के बाद कंपनियों को इस बात का फैसला करने के लिए दो माह वक्त होगा कि वह जेवर एयरपोर्ट की बिड का हिस्सा बने या नहीं। नियाल अधिकारियों के मुताबिक जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की बिड एवं कंसेशन एग्रीमेंट नीति आयोग, डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंस अफेयर के सुझावों पर तैयार किया गया है। पीएमआइसी की स्वीकृति के बाद प्रदेश कैबिनेट ने इसे मंजूरी दी है। इसलिए किसी तरह का संशोधन होने पर पीएमआइसी व प्रदेश कैबिनेट की मंजूरी जरूरी होगी।

Courtesy :- https://epaper.jagran.com/epaper/22-jul-2019-241-noida-edition-noida-page-17.html

Copyright © 2019 Jewar Airport Projects

Jewar Airport Projects

Contact Us