blog_img
 

बिड जमा करने के लिए आज है अंतिम दिन

Posted on Oct 30 2019

जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की बिड प्रक्रिया अंतिम पड़ाव की ओर है। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट कंपनी लिमिटेड (नियाल) ने तीस मई को एयरपोर्ट की वैश्विक बिड जारी की थी। देश-विदेश की कंपनियों ने जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण एवं संचालन को लेकर रुचि दिखाते हुए बिड डॉक्यूमेंट खरीदे हैं। तीस अक्टूबर को बिड खरीदने एवं जमा कराने की अंतिम तिथि है। हालांकि अब बिड डॉक्यूमेंट की बिक्री होने की उम्मीद नहीं है। दो कंपनियां पहले की बिड जमा कर चुकी हैं। कुछ और कंपनियां अंतिम दिन बिड जमा कर सकती हैं। छह नवंबर को नियाल जेवर एयरपोर्ट की तकनीकी बिड खोलेगी। इसमें अधिकतम छह कंपनियों का ही चयन हो सकता है। तकनीकी बिड में सफल कंपनियों की फाइनेंशियल बिड 29 नवंबर को खोली जाएगी। इसके साथ ही जेवर एयरपोर्ट की बिड प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। वहीं जेवर एयरपोर्ट की पर्यावरण संबंधी अनापत्ति के लिए भारतीय वन्य जीव संस्थान भी अपनी प्रारंभिक रिपोर्ट बुधवार को नियाल को सौंप सकता है। इस रिपोर्ट को केंद्रीय पर्यावरण मंत्रलय को सौंपा जाएगा।

किसानों को मुख्यमंत्री सौंपेंगे मुआवजा का चेक

जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए अस्सी फीसद जमीन अधिग्रहण का लक्ष्य बुधवार को पूरा हो जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लखनऊ में उन किसानों को मुआवजे का चेक सौंपेंगे, जिनकी जमीन पर कब्जे के साथ अस्सी फीसद जमीन अधिग्रहण का लक्ष्य पूरा हो जाएगा। इसके लिए किसान बुधवार को जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह के नेतृत्व में बस से लखनऊ के लिए रवाना होंगे। जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की बिड के लिए अस्सी फीसद जमीन कब्जे में होना जरूरी है। जिला प्रशासन इस लक्ष्य को पूरा करने के करीब पहुंच चुका है। अस्सी फीसद का लक्ष्य पूरा होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हाथों किसानों को मुआवजा वितरण कराने की योजना जिला प्रशासन ने बनाई थी। इसके लिए मुख्यमंत्री से ग्रेटर नोएडा आने का अनुरोध किया गया था, लेकिन व्यस्तता की वजह से मुख्यमंत्री के ग्रेटर नोएडा आने का कार्यक्रम तय नहीं हो पाया। किसान बुधवार को 24 हेक्टेयर जमीन का कब्जा पत्र मुख्यमंत्री की उपस्थिति में सौंपेंगे। मुख्यमंत्री अपने आवास पर किसानों को जमीन के मुआवजा का चेक किसानों को सौंपेंगे। इसके साथ ही जमीन का हस्तांतरण हो जाएगा। जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह बुधवार को किसानों को लेकर लखनऊ जाएंगे। कार्यक्रम के दौरान जिला प्रशासन व यमुना प्राधिकरण के अधिकारी भी वहां मौजूद रहेंगे। उल्लेखनीय है कि जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए रोही, पारोही, रन्हेरा, किशोरपुर, दयानतपुर व बनबारीवास गांव में जमीन अधिग्रहण की जा रही है। 1239 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया जा रहा है। जबकि करीब 94 हेक्टेयर जमीन का पुनग्र्रहण होना है।

Courtesy:- https://epaper.jagran.com/epaper/30-oct-2019-241-noida-edition-noida-page-17.html

Copyright © 2019 Jewar Airport Projects

Jewar Airport Projects

Contact Us