blog_img
 

यमुना किनारे बनेगी सौ मीटर चौड़ी सड़क

Posted on Jun 21 2019

जेवर एयरपोर्ट के शुरू होने के साथ नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर यातायात का भार कई गुना बढ़ जाएगा। सुहाने सफर में जाम बाधक न बने इसके लिए यमुना किनारे बने बंधे के साथ नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे के समानान्तर सड़क बनाई जाए। इस पर प्राधिकरण विचार कर रहा है। 100 मीटर चौड़ी सड़क छह लेन की होगी। इसी लेन से हरियाणा के फरीदाबाद से जोड़ने के लिए तीन प्रस्तावित पुलों पर कार्य किया जा रहा है। इससे हरियाणा आने-जाने वाले अधिकांश लोग इस सड़क का प्रयोग करेंगे। इससे एक्सप्रेस-वे पर यातायात का भार स्वत: ही समाप्त हो जाएगा।
जेवर एयरपोर्ट तक वाहनों की सीधी कनेक्टिविटी व अधिक से अधिक शहरों को जोड़ने की योजना है। इसके लिए यमुना के किनारे बंधे के साथ-साथ इस सड़क का बनाया जाना जरूरी है। यह सड़क सेक्टर-150 से एक्सप्रेस-वे के समानान्तर दिल्ली तक जाएगी। इसके बीच में हरियाणा के फरीदाबाद को जोड़ते हुए पहले सेक्टर-150, दूसरा गुलावली और तीसरा ग्रेटर नोएडा से फरीदाबाद मंझावली पर पुल प्रस्तावित है। इनका निर्माण जल्द शुरू हो जाएगा। यह सड़क एक रिंग रोड की तरह ही काम करेगी। यानी इस सड़क के जरिये जेवर एयरपोर्ट तक सीधा पहुंचा जा सकेगा। जिन्हें दिल्ली से जेवर एयरपोर्ट जाना है वह भी इस सड़क का प्रयोग कर सकेंगे। इसके लिए उन्हें नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर नहीं आना होगा। इस योजना के तहत पुश्ते के साथ बनी 35 मीटर सड़क की चौड़ाई बढ़ाकर 100 मीटर की जाएगी। यही सड़क समानान्तर सड़क का हिस्सा बनेगी। योजना का प्रारूप प्राधिकरण तैयार कर रहा है। इसे मंजूरी के लिए अधिकारियों के समक्ष रखा जाएगा।

एक्सप्रेस-वे पर बढ़ेगा यातायात का भार : प्राधिकरण की योजना एलजी चौक से सेक्टर-146/147 तक 1200 मीटर सड़क बनाने की है। इसका सारा ट्रैफिक नोएडा ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर गिरेगा। यहां पहले से ही यातायात ओवर लोड है। जाम की स्थिति हर वक्त बनी रहती है।

जासं, नोएडा : नोएडा-ग्रेटर नोएडा के बीच बेहतर कनेक्टिविटी के लिए एलजी चौक से सेक्टर-146/147 के जरिये नोएडा ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे तक एक सड़क बनाई जाएगी। सड़क के बीच हरनंदी पर पुल का निर्माण किया जाएगा। पुल की एप्रोच रोड के निर्माण के लिए जमीन अधिग्रहण किया जाना है। बृहस्पतिवार को नोएडा प्राधिकरण वर्क सर्किल-10 के वरिष्ठ प्रबंधक एसपी सिंह के साथ भू-लेख, राजस्व, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण, उत्तर प्रदेश ब्रिज कॉरपोरेशन के अधिकारियों की मौजूदगी में जमीन की नपाई कराई गई। इस दौरान संबंधित अधिकारियों ने खसरे का सत्यापन किया। इसके बनने के बाद एलजी चौक से सेक्टर-146/147 का सफर महज दो से तीन मिनट में पूरा किया जा सकेगा। पहले यहां पहुंचने के लिए परी चौक के रास्ते करीब 15 किलोमीटर का चक्कर लगाकर पहुंचना पड़ता था। 250 करोड़ रुपये की परियोजना में नोएडा -ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण 50-50 प्रतिशत खर्चा वहन करेंगे। परियोजना के बीच गांव बादौली बांगर आ रहा है। गांव की करीब 2.5 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा।

Courtesy:- https://epaper.jagran.com/epaper/21-jun-2019-241-noida-edition-noida-page-20.html

Copyright © 2019 Jewar Airport Projects

Jewar Airport Projects

Contact Us